• By admin
  • / July 9, 2018
  • / Blog

वेब पत्रकारिता ही क्यों

बहुत ही ध्यान से और गौर से पढे , अब तक का सबसे शानदार मेसेज है पूरी टीम के लिए और हिंदुस्तान के लिए भी

 वेब पत्रकारिता आने वाले time का Business है. आपको शायद सुनने में अजीब लगे but ये हक़ीक़त बहुत जल्दी आप लोगों के सामने आने वाली है ये । और हाँ ये बात मैं हवा में नहीं कह रहा हूँ। इस बात में 100% सच्चाई है। वेब पत्रकारिता पूरी दुनिया में बहुत तेज़ी से grow कर रही है। और जब तक दुनिया में लोग रहेंगे तब तक ये business चलता रहेगा।और पारंपरिक मीडिया विकल्प भी तीव्र गति से ज्यादा लोगों तक इतनी आसानी से नहीं पहुँच पा रहे है |

कोई इस वेब मीडिया को फ़साने वाला अवैध कहता है, कोई इसे बेवकूफ बनाने वाला काम कहता है, कुछ इसे फालतू लोगों का काम समझते हैं और कोई इसे time waste मानता है। इसमें मैं किसी को दोष भी नहीं देता। इसका simple सा reason है अभी डिजीटल पत्रकारिता का proper knowledge लोगों तक नहीं पहुँच पाया है।

दुनिया में कुछ काम ऐसे भी होते हैं जो लोगों को आसानी से समझ नहीं आते। for example “आज हम लोग पुरे दिन में ना जाने कितनी बार Facebook  या whats app पे chatting करते हैं। और उसके हम से कोई पैसे भी नहीं लिए जाते, फिर भी कमाई के मामले में Facebook का नाम top 10 websites में आता है।” कई लोगों ये बात समझ भी नहीं आती होगी कि Facebook कमाई भी करता होगा या अगर किसी को पता भी होगा तो उसका reason ही नहीं पता होगा कि income कैसे और कहाँ से होता है। चलिए दोस्तों सबसे पहले ये समझना बहुत ज़रूरी है कि कोई भी industry बनती कैसे है और चलती कैसे है। अगर ये चीज़ आपको समझ आ गयी तो आपको ज्यादा कुछ deep में जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। पहले ये जानना बहुत ज़रूरी है कि कोई भी industry बनती कैसे

PHASES OF INDUSTRIES

 दुनिया में हरेक industry को 4 phase से गुजरना पड़ता है, और दुनिया हरेक उद्योग ऐसे ही बने थे और और आगे भी ऐसे ही बनेंगे।

  • Negative Phase
  • Positive Phase
  • Growth Phase
  • Normal Phase

ये 4 phase क्या हैं ?? अब इनके बारे में थोड़ा detail से समझ लेते हैं।

1- Negative Phase 

हर industry की शुरुआत negative phase से ही होती है, ये वो दौर होता है जब कोई नया business model market में आता है but लोगों को समझ नहीं आता। और वे इसे नकार देते हैं।और trust करना इतना आसान भी तो नहीं होता। मन में एक question आता है नयी चीज़ है क्या पता चले ना चले। For example “शुरुआत में जब banking शुरू हुयी थी तो लोगों को bank पर बिल्कुल भी ट्रस्ट नहीं था। उनको लगता था bank हमारे पैसे लेकर कभी भी भाग सकता है। अपने पैसे को घर में रखना ही safe मानते थे”

“Insurance Sector को लोगों ने आते ही ignore कर दिया था, वजह था trust की कमी। और reason भी जायज़ था। जब तक किसी ने insurance करवा के इसका लाभ ना लिया तब तक कोई यकीन कैसे कर सकता था। और भी बहुत सारे example हैं like IT industry, Telecom sector, Online Shopping and many more. ऐसे बहुत से example हैं जिन्हे लोगों ने आते ही “ना” कह दिया था।

2- Positive Phase

ये वो time होता है जब लोगों को इस industry पर trust होना शुरू हो जाता है। अब लोग उस business model को accept करना शुरू कर देते हैं। उनका नज़रिया positive होने लगता हैं। इसका सबसे बड़ा reason होता है result दिखना। जब लोगों के सामने result आने शुरू हो जाता है तो लोगों का trust अपने आप बढ़ने लगता है। और वही लोग इसमें दिलचस्पी दिखाने लगते हैं जो पहले इसे ignore कर रहे थे।

Bank पर लोगों को तब trust हुआ होगा जब किसी रिश्तेदार, दोस्त या पड़ोसी ने bank में पैसे रखे होंगे और उनको safety के साथ साथ interest भी मिला होगा। Insurance की value तब पता लगी होगी जब किसी दोस्त की दुर्घटना के बाद उसके घरवालों को insurance का पैसा मिला हो।

3- Growth Phase 

एक बार किसी industry पे trust होने के बाद तो उस industry की growth बहुत जल्दी और बहुत ज्यादा हो जाती

है। अब किसी को industry के बारे में ज्यादा कुछ बताने या समझाने की ज़रूरत नहीं पड़ती। ये वह time होता है जब लोग उस industry में invest या काम करना चाहते है। नतीजा यह होता है business अपनी पूरी speed से grow होना शुरू हो जाता है। Maximum लोग industry के growth phase में आने के बाद काम शुरू करते हैं।

4- Competition Phase

यह एक ऐसा वक़्त होता है जब उस industry में competition बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। अब maximum लोग industry की growth देखकर इसमें काम करना शुरू कर देते हैं। ज्यादा लोगों के काम करने से ज्यादा profit के लिए सब एक दूसरे से competition करने लगते हैं।

आज maximum sectors में competition हो रहा है। चाहे Bank हो, Insurance sector हो, Telecom हो या Online Shopping हर जगह competition शुरू हो चुका है।

Industry चुनाव करने का सही time कौन सा है ?

अगर मेरी राय की बात करें तो मैं किसी भी industry में काम करने का सबसे सही टाइम Negative phase को मानता हूँ। क्यूँकि यही वो time होता है जब आपके साथ competition करने वाले ज्यादा लोग नहीं होते और grow करने का scope भी बहुत ज्यादा होता है। जब कोई industry negative Zone में हो और सब इसे नकार रहे हो तो एक बार इस sector को deeply समझने की कोशिश ज़रूर कीजिये। इसके आगे growth के chances पे research करके ही कोई भी decision लेना सही होता है। किसी ने negative phase में किसी industry में entry की और काम करना शुरू किया और एक टाइम बाद जब industry की अच्छी growth हो जाय तो उस person को कितनी बड़ी success मिलेगी। ये समझना ज्यादा मुश्किल नहीं है।

वेब पत्रकारिता Business क्यों ?

वेब पत्रकारिता business अभी negative phase में है। इसके बाद भी इस काम को करने के कुछ reasons हैं –

Negative Phase में होने के बावज़ूद इस business ने कई सारे successful और करोड़पति पैदा कर दिए हैं।

कम या बिना investment के start हो जाता है।

Leadership quality को improve करता है।

Positive लोगों का साथ रह कर motivational मिलता है।

आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है।

इन्सान के अंदर जीत का ज़ज्बा पैदा कर देता है।

वेब पत्रकारिता का वर्तमान और भविष्य

बहुत जल्द ही भारत में सरकार द्वारा इसे वैध करते हुए advertising देना शुरु किया और अब कानूनी जामा पहनाया जा रहा है |वेब मीडिया  को आने वाले दिनों में India में बहुत बड़ी Industry के रूप में स्वीकार कर चुका है। पिछले 5 सालों में 20% growth रेट से India में web media business ने growth की है और इस situation को देखते हुए Assocham के अनुसार 2020 तक  73 करोड़ लोग इंटरनेट उपभोक्ता होकर यह व्यापार 500 अरब रूपये का व्यापार बन जायेगा।Develop countries like अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, चीन, जापान, कोरिया, थाईलैंड, वियतनाम और सिंगापुर आदि ने तो इस industry को काफी हद तक अपना लिया है और लोग भी बहुत जागरूक हैं इस industry से। अब India की बारी है। अब आपको खुद ही फैसला करना है कि आपको इस future industry में दिल से काम करना है या नही

इसी लिए वेब पत्रकारिता को भारत में पत्रकारिता के स्वर्णिम भविष्य के रूप में भी देखा जा रहा है | आय के साथ साथ प्रचलन और तत्परता जैसे वांछनीय गुणों केरहते वेब पत्रकारिता भविष्य के गर्भ में उन्नति का पुष्ट दस्तावेज़ साबित होगी|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please Message on My WhatsApp